Indian Railway main logo
खोज :
Increase Font size Normal Font Decrease Font size
   View Content in English
National Emblem of India

परिचय

यात्री तथा फ्रेट सेवा

मुंबई उप नगरीय रेल

मंडल

समाचार एवं अद्यतन

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

अहमदाबाद मंडल 

स्वच्छ भारत मिशन



इतिहास    संगठन     अवलोकन     रुचि के स्थानों    आरटीआई    सिस्टमका नक्शा    डी आर यू सी सी 

  डी.आर.एम./ट्विट्टर    सी.एस.आर

कार्मिक विभाग लिंक्स (LARSGESS)  

जुलाई-2014 की अंतिम अधिसूचना     जनवरी-2014 की अधिसूचना  जुलाई-2014 की अधिसूचना (Revisied)   
  अधिसूचना GP-1800 (2015)         LARSGESS परिपत्र  (All)      अधिसूचना GP-1900 (2015)



अहमदाबाद रेलवे मंडल

रेलवे के आगमन और यात्रियों एवम माल के लिए परिवहन के मुख्य साधन के रूप में इसके विकास के बाद, अहमदाबाद भी पश्चिमी क्षेत्र में रेलवे गतिविधि का केन्द्र बिन्दु बन गया है ।

गुजरात की वाणिज्यिक राजधानी अहमदाबाद में संभागीय मुख्यालय लंबे समय से गुजरात के लोगों, व्यापारियों, प्रेस और अन्य संस्थाओं की मांगों की सूची में प्रमुख स्थान पर रहा है । इस मांग के सुखद अंत के रूप में, नयेअहमदाबाद मंडल के गठन ने लाभार्थियों के लिए एक आकर्षक अवसर ही नहीं दिया है बल्कि देश के पश्चिमी क्षेत्र में सर्विस सेक्टर को मजबूत बनाने एवम गुजरात के औद्योगिक विकास की तेजी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।

अहमदाबाद मंडल का गठन अजमेर, राजकोट और वडोदरा मंडल के विभिन्न अनुभागों को लेकर किया गया है । इस नए विभाजन के लिए वडोदरा मंडल से 316 किलोमीटर,राजकोट मंडल से 610 किलोमीटर और अजमेर मंडल से 484 किलोमीटर का क्षेत्र लिया गया है । अहमदाबाद मंडल दक्षिण में गेरतपुर से उत्तर में पालनपुर एवम पश्चिम में नालिया से पूर्व में खेड्ब्रह्मा तक फैला हुआ है। मंडल गुजरात के 9 जिलों अर्थात् अहमदाबाद , गांधीनगर, पाटन, बनासकांठा, सुरेंद्रनगर, कच्छ, साबरकांठा, महेसाणा और राजकोट में सेवा प्रदान करता है।

विरामगाम - महेसाणा ( 64.65 किमी ) अनुभाग को दिसंबर 2004 में बीओटी योजना के तहत मिटरगेज लाइन से ब्रोड गेज लाइन में परिवर्तित कर दिया गया है।

वर्ष 2006-07 एवं 07-08 के दौरान मंडल के तीन अनुभागोंअर्थात् पालनपुर-गांधीधाम(300.81 किमी), साबरमती-खोडीयार (9.92 किमी) और गांधीनगर-कलोल (20.495 किमी) पर गेज परिवर्तनकिया गया एवम वर्ष 2008-09 के दौरान महेसाणा-पाटन अनुभग (39 किलोमीटर) पर गेज परिवर्तन किया गया है।

वर्ष 2010-11 के दौरान गांधीधाम-कंड्ला पोर्ट अनुभाग (11.87 किमी ) एवम गांधीधाम-आदिपुर अनुभाग (8.00 किमी )में लाइन के दोहरीकरण का कार्य पूरा किया गया है।
 
वर्तमान वर्ष मेंअहमदाबाद-हिम्मतनगर-उदयपुर अनुभाग ( 299.2 किमी ),न्यूभुज-नालिया अनुभाग (43.5 किमी ) एवम विस्तार नालिया सेवायोर ( 24.65km )और अहमदाबाद-बोटाद अनुभाग ( 170.48km ) के लिये गेजपरिवर्तन के कार्य को स्वीकृत किया गया है और निर्माण कार्य प्रगति पर हैं। अहमदाबाद - वटवा अनुभाग (7.5 किमी) तीसरी लाइन का कार्य स्वचालित सिगनल प्रणाली के साथ, पालनपुर–सामाखली अनुभाग (274.73 किमी) लाइन दोहरीकरण और एसबीआई 2 कोचिंग टर्मिनल का कार्य इस वर्ष मंजूर किये गये प्रमुख नए निर्माण कार्य हैं।




























 







































Source : पश्चिम रेलवे CMS Team Last Reviewed on: 31-08-2017  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.